ब्राह्मणों के उत्थान एवं ब्राह्मण एकता व विप्र अधिकारों की रक्षा के लिए किया गया चिंतन ।

ब्राह्मणों के उत्थान एवं ब्राह्मण एकता व विप्र अधिकारों की रक्षा के लिए किया गया चिंतन ।

रिपोर्ट – सोनू गौड

विप्र स्वाभिमान महासंघ के तत्वावधान में विप्र कुम्भ के 1 वर्ष पूर्ण होने पर विप्र समाज और विप्र साधु समाज ने एक बैठक रखी। जिसमें ब्राह्मणों के उत्थान एवं ब्राह्मण एकता व विप्र अधिकारों की रक्षा के लिए चिंतन किया गया। सभी महापुरुषों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये। सभी ब्राह्मणों ने अपने अपने विचार प्रस्तुत किये और कहा कि ब्राह्मण और ब्राह्मण बच्चों के उत्थान के लिये हम सब ब्राह्मणों को एकजुट होकर आगे आना चाहिए और ब्राह्मण बच्चों को शास्त्र वेद और पुराणों का अध्ययन कराना चाहिए जो हम लोगों का अधिकार है। इस बात पर भी चर्चा हुई कि किस प्रकार से आने वाली पीढीयों का उत्थान हो। विप्रो की एकता और मित्रों की एक जुटता का ही परिणाम था कि भाजपा सरकार ने 10 प्रतिशत आरक्षण सवर्णों के लिए दिया। मोदी सरकार ने सराहनीय कार्य किये है। योगी सरकार की भी विप्र समाज ने सराहना की। आचार्य बदीश जी ने कहा कि योगी मंत्रिमंडल में सात ब्राह्मण मंत्री हैं जिन पर महत्वपूणर््ा मन्त्रालय है। योगी सरकार की विप्र समाज ने मुक्त कण्ठ से सराहना की। इस अवसर पर आचार्य बद्रीश जी महाराज कार्षि्ण नागेंद्र महाराज बिहारीलाल वशिष्ठ आचार्य अतुल कृष्ण गोस्वामी विपिन बापू अशोक व्यास अशोक शास्त्री जगदीश चंद्र शास्त्री पार्वती वल्लभ तुलसी स्वामी गोपेश गोस्वामी सौरभ गौड़ सुधीर शुक्ला श्याम सुंदर पाराशर अनुपम गौतम विकास पाराशर विनोद दीक्षित अंसुल पाराशर महेश गौतम जगदीश प्रसाद लवानिया राधेश्याम दुबे राजेश पहलवान गोकुल चंद्र गोस्वामी रमेश दत्त शर्मा रामविलास चतुर्वेदी सुशील गोस्वामी राम दत्त मिश्र आदि विप्र समाज मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *