भारत देश में शासकीय व्यवस्था व धार्मिक पाखण्ड का घालमेल

सुधीर के बोल :   भारत देश में शासकीय व्यवस्था व धार्मिक पाखण्ड का घालमेल  

आज जिस तरह कॉफ़ी कैफे डे के मालिक वी जी सिदार्थ की मौत का समाचार आया वह धर्म गुरु भय्यूजी महाराज की तरह है।

कहने को दोनों के प्रोफेशन जुदा है परन्तु दिमागी हालात एक जैसे है, एक आम व्यक्ति को जो कुछ संसार में चाहने की चाहत होती है वह सब था उनके जीवन में फिर भी हालत असमय मौत तक ले गए।

भारत का 70% व्यक्ति अवसादग्रस्त है, यह समस्या तेज़ी से बढ़ती जा रही है। अपनी क्षमताओ व अवश्यक्ताओ से अधिक पाने की वेबजह दौड़ में यह बीमारी उतपन्न होती है।

भारत देश में शासकीय व्यवस्था व धार्मिक पाखण्ड का घालमेल का वायरस मानसिकता को करेप्ट कर संस्कार के सॉफ्टवेयर का विधंस कर रहा है।

भारतवासी अपने इतिहास पर गौरवान्वित होने मात्र से वर्तमान हालात नहीं सुधरेंगे, दिन पर दिन सज्जनता, नैतिकता का ह्रास होता जा रहा है।

केवल अच्छे नारे गढ़े जा रहे है उसके उलट राजा से लेकर रंक तक व्यवस्था को धोखा देने में लगे हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *